बीएएमएस कोर्स क्या है? बीएएमएस कोर्स में एडमिशन कैसे लें?

By | August 1, 2021

बीएएमएस कोर्स क्या है? बीएएमएस कोर्स में एडमिशन कैसे लें? बीएएमएस का फुल फॉर्म – आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बीएएमएस कोर्स के बारे में बताएंगे। इसी के साथ हम आपको यह भी बताएंगे कि बीएएमएस कोर्स क्या है? और बीएएमएस कोर्स में प्रवेश कैसे लें? बीएमएस का फुल फॉर्म क्या है? साथियों अगर आप बीएएमएस कोर्स के बारे में जानना चाहते हैं और बीएएमएस कोर्स करना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आखिरी तक पूरा पढ़िए। इस आर्टिकल में आपको बीएएमएस कोर्स से जुड़ी हुई संपूर्ण जानकारी दी गई है।

हमारे देश में बहुत से लोगों का सपना एक डॉक्टर बनने का होता है। डॉक्टर को देश में एक अच्छी इज्जत और प्रतिष्ठा मिलती है।डॉक्टर की सैलरी भी बहुत अच्छी होती है।यदि आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो इसके लिए अनेक तरीके हैं। आप किसी भी एक निश्चित क्षेत्र से डॉक्टर बन सकते हैं। कुछ लोग आंखों के डॉक्टर बनते हैं तो वहीं कुछ लोग दांत के डॉक्टर बनते हैं वहीं कुछ लोग हार्ट के डॉक्टर बनते हैं। यदि आप चाहे तो बीएएमएस कोर्स करके आयुर्वेद डॉक्टर बन सकते हैं।

जैसा की आप सभी को पता है वर्तमान समय में हमारा देश बहुत ज्यादा आधुनिक हो गया है। अब के समय में हमारे देश में ऐसे ढेर सारी नई नई अंग्रेजी दवाई खोज ली गई है जो खतरनाक से खतरनाक बीमारी को समाप्त करने की क्षमता रखती है। लेकिन इन अंग्रेजी दवाइयों के ढेर सारे साइड इफेक्ट होते हैं। जो व्यक्ति ज्यादा दिन तक अंग्रेजी दवाई का सेवन करता है उसके शरीर में ढेर सारी समस्याएं पैदा होने लगती है। जब हमारे देश में अंग्रेजी दवाइयों का प्रचलन नहीं था तब बड़े-बड़े वेद और ऋषि मुनि सिर्फ आयुर्वेद का इस्तेमाल करके कठिन से कठिन बीमारी को सही कर देते थे। आयुर्वेदिक दवाइयों की सबसे बड़ी खासियत यह होती है कि इसमें किसी भी प्रकार के साइड इफेक्ट की संभावना नहीं रहती। जो बीमारी अंग्रेजी दवाइयों से नहीं सही होती वह बीमारी आयुर्वेद दवाई से कुछ ही दिनों में सही हो जाती है।

Read More – एमसीए कोर्स क्या है? एमसीए कोर्स में एडमिशन कैसे लें? एमसीए कोर्स कैसे करें?

पुरानी परंपरा को आज भी जीवित रखने के लिए और आयुर्वेद को आगे बढ़ाने के लिए आयुर्वेद से आपको डॉक्टरी की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए आपको बीएएमएस कोर्स करना होगा। बीएएमएस कोर्स करने के बाद आप आयुर्वेद के डॉक्टर बन जाएंगे और आप लाखों रुपए हर महीने कमा सकते हैं। देश में अंग्रेजी डॉक्टर बहुत हैं लेकिन आयुर्वेद डॉक्टर की कमी है जिस वजह से अस्पतालों में आयुर्वेद डॉक्टर की डिमांड बहुत अधिक है।

बीएएमएस का पूरा नाम क्या है?

तो दोस्तों ऊपर की जानकारी को पढ़कर आपको यह पता चल गया होगा कि बीएएमएस क्या है? आइए अब हम आपको बताते हैं बीएएमएस का पूरा नाम क्या है? आपकी जानकारी के लिए बता दूं बी ए एम एस का पूरा नाम बैचलर इन आयुर्वेदिक मेडिकल साइंस है। इसे हम हिंदी में आयुर्वेद चिकित्सा और सर्जरी में स्नातक के नाम से जानते हैं।

बीएएमएस से जुड़ी अन्य बातें

कुछ लोगों के मन में डाउट था बीएएमएस कोर्स कब करना चाहिए? आपकी जानकारी के लिए बता दूं अगर आप तो अच्छा 12 के बाद बीएएमएस कोर्स करते हैं तो यह ज्यादा सुविधाजनक रहता है। अच्छा 12 के बाद बीएएमएस कोर्स करने की मान्यता अलग होती है। बीएएमएस कोर्स में कुल 9 सेमेस्टर होते हैं। इसमें आपको 1 वर्ष की इंटरशिप करनी पड़ती है। बीएएमएस कोर्स अंग्रेजी से होता है लेकिन इसमें संस्कृत भी पढ़ाई जाती है। इसीलिए आपको संस्कृत के बारे में अच्छा नॉलेज होना चाहिए।

B a m s मैं एडमिशन कैसे ले?

दोस्तों अगर आप बीएएमएस कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो इसके लिए दो तरीके हैं। आप नीचे बताए गए दोनों तरीकों से बीएएमएस कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं।

Direct college जाकर प्रवेश ले

बीएएमएस कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो इसके लिए आप डायरेक्ट कॉलेज जाकर प्रवेश ले सकते हैं फुल स्थापित हर शहर में एक ना एक डॉक्टर कॉलेज होता है जहां पर बीएएमएस कोर्स उपलब्ध होता है। आप उस मेडिकल कॉलेज जाकर वहां पर बीएएमएस कोर्स के लिए एडमिशन ले सकते हैं। लेकिन इस तरह डायरेक्ट एडमिशन लेने में आपको ज्यादा फीस देनी पड़ती है। कुछ विद्यालय एडमिशन लेने के लिए निश्चित कटऑफ निर्धारित करते हैं। आपको यह भी देखना पड़ेगा कि आप उसे कटऑफ के अंतर्गत आ रहे हैं या नहीं आ रहे हैं।

नीट एग्जाम क्वालीफाई करके एडमिशन प्राप्त करें

दोस्तों अगर आप किसी सरकारी कॉलेज से बीएएमएस कोर्स करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको नीट एग्जाम क्वालीफाई करना पड़ेगा। देश में प्रतिवर्ष नीट परीक्षाएं आयोजित की जाती है। यदि आप नीट परीक्षा का लीफाई कर लेंगे तो आपको सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिल जाएगा। सरकारी कॉलेज की फीस बहुत कम होती है।

बीएएमएस कोर्स करने के लिए आवश्यक योग्यता

यदि आप बीएएमएस कोर्स करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके अंदर कुछ योग्यताओं का होना आवश्यक है।

  • बीएएमएस कोर्स करने के लिए आप कक्षा 12 पास होना अनिवार्य है।
  • कक्षा 12 में आपके पास साइंस स्ट्रीम होनी चाहिए जिसमें फिजिक्स केमिस्ट्री और बायो लॉजि मुख्य विषय होने चाहिए।
  • यदि आप की उम्र 17 वर्ष से अधिक और 25 वर्ष से कम है तो आप बीएएमएस कोर्स के लिए आवेदन कर सकते हैं।

बीएएमएस कोर्स करने के बाद मिलने वाली सैलरी

दोस्तों जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया था बीएएमएस की डिमांड दिन प्रतिदिन बढ़ती चली जा रही है। यदि आप बीएएमएस कोर्स करते हैं तो आपको अच्छी नौकरी मिलेगी। आपको शुरुआत में लगभग ₹50000 तक तनख्वाह दी जाएगी। इसके बाद धीरे-धीरे अनुभव बढ़ने पर आपकी तनख्वाह में बढ़ोतरी होगी। बीएएमएस कोर्स करने के बाद आपको कितनी सैलरी मिलेगी यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप खुद का क्लीनिक चला रहे हैं या किसी हॉस्पिटल पर डॉक्टर के पोस्ट पर काम कर रहे हैं। आप जितने बड़े हॉस्पिटल पर काम करेंगे आपको उतनी ही ज्यादा सैलरी मिलेगी।

निष्कर्ष

तो साथियों यह आज आपके लिए एक छोटी सी जानकारी थी। आज इस आर्टिकल में हमने आपको बीएएमएस कोर्स के बारे में जानकारी दी। इस आर्टिकल में हमने आपको बताया बीएएमएस कोर्स क्या है? बीएएमएस कोर्स कैसे करें? बीएएमएस कोर्स करने के लिए आवश्यक योग्यता? आशा करता हूं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है इसे अपने दोस्तों के पास शेयर करें। आर्टिकल को आखरी तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *